विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैक्सीन पर राष्ट्रवाद के खिलाफ चेतावनी दी है

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैक्सीन पर राष्ट्रवाद के खिलाफ चेतावनी दी है. उन्होंने अमीर देशों को आगाह करते हुए कहा कि यदि वे खुद के लोगों के उपचार में लगे रहते हैं और अगर गरीब देश बीमारी की जद में हैं तो वे सुरक्षित रहने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं.
WHO के महानिदेशक ट्रेडोस अधनोम गेब्रेयसस के अनुसार, यह अमीर देशों के हित में होगा कि वे हर देश को बीमारी से बचाने में मदद करें. गार्डियन के मुताबिक, ट्रेडोस ने कहा कि वैक्सीन पर राष्ट्रवाद अच्छा नहीं है, यह दुनिया की मदद नहीं करेगा.
‘एक साथ ठीक होना होगा’
ट्रेडोस ने जिनेवा में WHO के मुख्यालय से वीडियो-लिंक के माध्यम से अमेरिका में एस्पन सिक्योरिटी फोरम को बताया, “दुनिया के लिए तेजी से ठीक होने के लिए, इसे एक साथ ठीक होना होगा, क्योंकि यह एक वैश्वीकृत दुनिया है. अर्थव्यवस्थाएं आपस में जुड़ी हुई हैं. दुनिया के सिर्फ कुछ हिस्से या सिर्फ कुछ देश सुरक्षित या ठीक नहीं हो सकते.”
उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 तब कम हो सकता है जब वे देश जिसके पास धन है, वे इससे निपटने के लिए प्रतिबद्ध हों. रिपोर्ट के अनुसार, कई देश कोरोनोवायरस के लिए वैक्सीन खोजने की दौड़ में हैं. इस बीमारी से वैश्विक स्तर पर 7,00,000 से अधिक लोग मारे गए हैं.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
2,811FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles