औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने अपने 4 साल के कार्यकाल की उपलब्धियों गिनाई

औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने प्रेस वार्ता अपने 4 साल के कार्यकाल की उपलब्धियों गिनाई

लखनऊ : यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 4 साल की उपलब्धियों पर बोलते हुए कहा कि 2014 से पहले महत्वहीन विभाग था औद्योगिक विकास हमने काम करके विभाग की और सरकार की पहचान बनाई। इन्वेस्टर सम्मिट के माध्यम से जो रोजगार और उद्योग की नई पहचान बनी है उसमें सभी का योगदान रहा हम सभी को मालूम है यूपीड़ा हो चाहे यूपीसीडा हो मैं पहले से लोग जमे रहते थे हम दोनों के तबादले किए और उन्हें बताया की अन्य जगह भी नौकरी करनी पड़ सकती है नोएडा में प्लॉट आवंटन के लिए पारदर्शी व्यवस्था लागू की जो पतियों को ही मालूम हो गया कि कहां इस वर्क का प्लाट उन्हें मिलेगा और कितनी क्षमता में उन्हें उद्योग लगाना है हमने इंडस्ट्री वाइस कितने इंडस्ट्रीज का काम शुरू हो गया है कि कितनी पर काम चल रहा है सब खाका तैयार करके आपके समक्ष रखा है हमने 58000 करोड रुपए के इन्वेस्टमेंट लगाएं हैं जिस पर काम शुरू हो गया है

साथ ही कहा है हमने हाल ही में बेंगलुरु एयर इंडिया एयर शो में जाने का मौका मिला लगभग 4500 करोड़ रुपए के 13 प्रस्ताव का इन्वेस्टमेंट हमें बेंगलुरु से प्राप्त हुआ। कई एक्सप्रेसवे आप पूरे होने के कगार पर हैं बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में 35 परसेंट काम पूरा हो गया गंगा एक्सप्रेस वे पर जमीन लेने का काम पूरा हो गया है इसी वर्ष का शिलान्यास कर दिया जाएगा गंगा एक्सप्रेस पर पूरे देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा कई बड़ी-बड़ी कंपनियां जिनमें अदानी समूह में शामिल है हमें साथ काम करने के लिए तैयार हैं 77 से अधिक निवेश तमाम कंपनियों का प्रस्ताव हमारे पास है

वहीं हीरा नंदानी ने जो अपना काम शुरू किया है ग्रेटर नोएडा में 25 दिन के अंदर हमने काम शुरू करा दिया है उन्होंने कहा कि यह एक रिकॉर्ड है इतने कम समय में प्रपोजल के साथ कार्य शुरू करा दिया गया है इज ऑफ डूइंग बिजनेस में हमने लंबी छलांग लगाई हम दूसरे स्थान पर आए हमने अपने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वह व्यापारियों को सभी सुरक्षा विश्वास दिलाएं और अन्य स्टेट के जो पॉलिसी हैं के लिए हमारा एक ही लक्ष्य है या तो बीट करें या तो मीट करें जिससे अन्य राज्यों के उद्योगपतियों को भी हमसे व्यापार संबंधी लेन-देन में आसानी होगी

जमीन संबंधी किसी भी व्यापारी को कोई समस्या ना हो इसके लिए हमने जिले स्तर पर और कमिश्नर स्तर पर परमिशन देने के लिए छूट दी हमने फ्लैट्टेड फैक्ट्री का एक नया प्रोग्राम लाया है दिल्ली में बंदिश है कि छोटे कमरों में कोई अपनी फैक्ट्री चलाता था तो उस पर बंदिश थी इसके अंतर्गत प्लग एंड पेट के तहत ऐसे लोगों को हम मौका देंगे और नीतियों को फ्रेंडली बनाया है जिसमें छोटे छोटे उद्योगों को भी काम करने का मौका मिले

लखनऊ की एक आईआईटीटी यूपी कंपनी को हम पुनर्जीवित कर रहे हैं गवर्नमेंट ऑफ इंडिया से 15 करोड़ रुपए उसके लिए सहयोग दिया गया है और जमशेदपुर की एक कंपनी से उसके रिवाइवल को लेकर समझौता किया जाएगा लगभग दो लाख 20 हजार रोजगार नए दो हजार अट्ठारह से इन्वेस्टर सम्मिट के बाद से जो इंडस्ट्रीज आई हैं उनके तहत के एंप्लॉयमेंट के लिए बात हो गई है इतना रोजगार आया है। साडे आठ सौ प्लॉट यमुना अथॉरिटी के अंतर्गत टॉयज वालों के लिए एमएसएमई के लिए छोड़ा है 115 प्लॉट हमने आवंटन कर दिया

राजेंद्र तिवारी मुख्य सचिव अतिरिक्त प्रभार आईडीसी ने कहा कि सरकार रोजगार को लेकर काफी सजग है लगभग 19 लाख एमएसएमई में रोजगार व लाख अन्य सेक्टर में रोजगार देने का काम हमारी सरकार ने किया है वहीं मनरेगा के तहत हमने 36 लाख मानव दिवस के तहत रोजगार दिया। हमने रोजगार पोर्टल बनाया है। आत्मनिर्भर भारत अभियान में कच्चा माल देने से लेकर मंच मुहैया कराना जहां उनका मार्मिक सके स्टार्टअप नीति के तहत ऐसे लोगों को बंद नहीं होने देंगे

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
2,812FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles