सीएम योगी ने एमएसएमई को 80 हजार करोड़ लोन देने का लक्ष्य दिया

एक साल में एक करोड़ युवाओं को मिलेंगे एमएसएमई से रोजगार

सीएम योगी ने एमएसएमई को 80 हजार करोड़ लोन देने का लक्ष्य दिया

20 लाख एमएसएमई होंगी लाभान्वित, सूबे की अर्थव्यवस्था को भी मिलेगी मजबूती

सीएम योगी ने बजट में स्वरोजगार योजना के लिए दिए सौ करोड़

23 फरवरी, लखनऊ। प्रदेश में युवाओं को रोजगार के अवसरों में काफी ईजाफा हुआ है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दूरदर्शी नीति के कारण अगले एक साल में एक करोड़ से ज्यादा युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। सीएम योगी ने अगले वित्त वर्ष में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) को 80 हजार करोड़ लोन देने का लक्ष्य बैंकों को दिया है। इस धनराशि से करीब 20 लाख एमएसएमई लाभान्वित होंगी और अमूमन एक इंडस्ट्री में चार से पांच लोगों को रोजगार मिलेंगे।
सीएम योगी की पहल पर कोरोना काल में युवाओं को निजी क्षेत्र में भी रोजगार दिलाने के लिए विभिन्न स्तर पर कार्य किया गया। इसी का परिणाम है कि प्रदेश सरकार के विशेष समन्वय से इस वित्त वर्ष में आवंटित लक्ष्य 61,759 करोड़ के सापेक्ष दिसंबर तक 61977 करोड़ (100.35) के लोन एमएसएमई को दिए गए हैं। प्रदेश में पहली बार ऐसा हुआ है कि योगी सरकार में एमएसएमई को अब तक का सबसे ज्यादा लोन दिया गया है और इससे लाखों युवाओं को रोजगार के अवसर मिल चुके हैं। इसके अलावा सीएम योगी ने अगले वित्त वर्ष के बजट में स्वरोजगार योजना के लिए सौ करोड़ रुपए प्रस्तावित किए हैं।
आर्थिक विशेषज्ञ अरविंद जायसवाल ने बताया कि योगी सरकार में एमएसएमई को बैंकों से जो सहूलियत मिल रही है। इससे सिर्फ एमएसएमई को ही नहीं लाभ मिल रहा है, बल्कि प्रदेश और देश की अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिल रही है। इससे निजी क्षेत्र में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे हैं।

रोजगार उपलब्ध कराने में ग्रोथ इंजन साबित हो रहा एमएसएमई: नवनीत

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
2,812FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles