रोजगार का वादा झूठा, मजदूर कर रहे हैैं खुदकशी: अजय कुमार लल्लू

Others

रोजगार का वादा झूठा, मजदूर कर रहे हैैं खुदकशी: अजय कुमार लल्लू

डिफेन्स एक्सपो और इन्वेस्टर मीट पर खरबों रुपये के करार हुए थे उनसे कितनो को रोजगार मिला: अजय कुमार लल्लू

प्रवासी मजदूरों के लिए तत्काल आर्थिक पैकेज की घोषणा करे सरकार: अजय कुमार लल्लू

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश सरकार द्वारा सवा करोड़ रोजगार देने के दावे को झूठा करार देते हुए कहा कि योगी सरकार प्रदेश के बेरोजगारों और प्रवासी मजदूरों के साथ छल और धोखाधड़ी करने का काम कर रही है। जमीनी स्तर पर हालात इतने खराब हैं कि मजदूर आत्महत्या करने को मजबूर हैं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में प्रदेश में बढ़ती प्रवासी मजदूरों की आत्महत्या की घटनाओं पर रोष प्रकट करते हुए वर्तमान योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि योगी सरकार मजदूरों बेरोजगारों के साथ छल और धोखाधड़ी कर रही है। उन्होंने बाँदा का हवाला देते हुए कहा कि पिछले एक महीने में अकेले बाँदा जनपद में 15 से अधिक मामलों में आपदा काल के दौरान जो प्रवासी मजदूर लौटे थे उन्होंने ख़ुदकुशी की है। बीते दिन झांसी में भी एक मजदूर ने आर्थिक तंगी के वजह से आत्महत्या कर लिया।

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि डिफेन्स एक्सपो और इन्वेस्टर मीट में जो खरबों के करार हुए थे, उससे कितनो को रोजगार मिला सरकार को जवाब देना चाहिए । दोनों आयोजनों में सरकार ने करोड़ो रुपये पानी की तरह बहाए थे।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पूरे प्रदेश में मजदूर तंग हालात में है। कोई रोजगार नहीं है। ना ही तो कोई कारगर योजना जमीन पर काम कर रही है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि मजदूर आत्महत्या को मजबूर हैं लेकिन मजदूर विरोधी सरकार उनकी बात तक सुनने को तैयार नहीं है। मजदूर आस लगाए बैठे कि सरकार स्किल मैपिंग करके उनको योग्यता के हिसाब से रोजगार देगी लेकिन अब तो उनके घरों में खाने के लाले पड़े हुए हैं।

उन्होंने कहा कि बुनकरी-दस्तकारों का बुरा हाल है। व्यापार बंद है। काँच उद्योग, पीतल उद्योग, फ़र्नीचर उद्योग, चमड़े का उद्योग, होजरी उद्योग, डेयरी, मिट्टी बर्तन उद्योग, फिशरी, अन्य घरेलू और लघु उद्योग सभी को तेज झटका लगा है। सरकार लगातार इनकी अनदेखी कर रही है। उन्होंने सरकार से तत्काल प्रवासी मजदूरों के लिए आर्थिक पैकेज देने की घोषणा करने को कहा है ।

Promise of job is a lie, workers are committing suicide: Ajay Kumar Lallu

Deals worth trillions of rupees were done during Defence Expo and Investor Meet, but how many have got jobs: Ajay Kumar Lallu

Government should immediately announce economic package for migrant workers: Ajay Kumar Lallu

Lucknow,13 July 2020. Uttar Pradesh Congress Committee has termed the state government’s claim to give 1.25 crore jobs as a lie, stating that the yogi government has cheated the unemployed and migrant workers. At the ground level, the situation is so bad that the migrant workers are committing suicide.
Expressing anger over suicides being committed by migrant workers in the UPCC President Mr. Ajay Kumar Lallu said that thee Yogi government has cheated the unemployed youths and migrant workers. Mr. Lallu said that over fifteen migrant workers have committed suicide in Banda district alone after they returned from different parts of the country due to corona pandemic. Only recently a migrant worker took the extreme step after he was not able to deal with financial hardships arising out of the job loss.
Launching an attack on the Yogi government, the UPCC chief said that the government should tell the people how many unemployed youths and others got job after agreements worth trillions of rupees were inked during Defence Expo and Investor Meet. In organizing both the events, the government spent money like anything.
Mr. Lallu said that workers across the state are facing lot of hardships and as they have no jobs. No government scheme is working effectively on the ground. The situation has worsened so much that the workers are compelled to commit suicide but no one is taking note of their pains and problems. The workers were expecting that the government will reach out to them with jobs according to their skills but in vain. The workers are now on the verge of starvation.
Mr. Lallu said that the condition of artisans is equally bad. No business is taking place. The government is not paying any attention to glass industry, brass industry, furniture industry, leather industry, Hosiery industry, dairy and clay pots industry, fishery industry and many other small scale industries which have suffered a major jolt during corona induced lockdown.

Leave a Reply

Your email address will not be published.